स्वास्थ्य

म्यूजिक थेरेपी: संगीत में झूमकर भी स्वास्थ्य को मिल सकते हैं कई फायदे

म्यूजिक यानी संगीत, जो हमारी जिंदगी का एक जरूरी हिस्सा बन गया है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि म्यूजिक एक थेरेपी की तरह काम करके कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देने में मदद कर सकता है। जी हां, म्यूजिक की मदद से कई तरह के मानसिक विकारों से राहत दिलाने से लेकर शारीरिक विकास बेहतर तरीके से हो सकता है। आइए आज हम आपको विस्तार से बताते हैं कि म्यूजिक थेरेपी से क्या-क्या फायदे मिल सकते हैं।

म्यूजिक से मिलने वाले शारीरिक लाभ
अगर आप रोजाना कुछ मिनट ही लाइट म्यूजिक सुनते हैं तो इससे हृदय के स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। इसके अतिरिक्त, यह श्वसन में सुधार करने, रक्तचाप को नियंत्रित करने और मांसपेशियों को आराम देने में भी मदद कर सकता है। इसके साथ ही सिरदर्द से राहत दिलाने में भी म्यूजिक थेरेपी मदद कर सकती है क्योंकि इसका उद्देश्य दर्द से ध्यान हटाना है और उसे दूर करना है।

म्यूजिक से मिलने वाले मानसिक लाभ
अल्जाइमर रोगियों के इलाज के लिए भी म्यूजिक थेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि इसका दिमाग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और अल्जाइमर एक मानसिक रोग है। इसके अतिरिक्त, यह चिंता, बेचैनी और तनाव जैसे मानसिक विकारों से छुटकारा दिलाने में भी कारगर है। इसके साथ ही व्यक्ति को आराम पहुंचाने और मन को खुश रखने में भी म्यूजिक थेरेपी काफी मदद कर सकती है। हालांकि, इन सभी लाभों के लिए गाने का सही चयन होना महत्वपूर्ण है।

ये फायदे भी प्रदान करता है म्यूजिक
शारीरिक और मानसिक लाभ के साथ-साथ म्यूजिक थेरेपी में आध्यात्मिक अनुभवों को बढ़ाने की शक्ति है और इससे अन्य लोगों से जुडऩे में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त, यह खुद पर नियंत्रण की भावना पैदा करने में मदद करती है और मनोभ्रंश के प्रभाव को कम करने में भी मदद करती है। वहीं, मनोरंजन के हिसाब से भी म्यूजिक बेहतरीन है। शायद इसलिए हर पार्टी और जश्न का मजा इसके बिना अधूरा सा है।

किन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है म्यूजिक थेरेपी
जो व्यक्ति शारीरिक दर्द से राहत पाना चाहता है, उसके लिए म्यूजिक थेरेपी बेहतरीन है। वहीं, तनाव जैसे मानसिक विकारों से छुटकारा दिलाने में भी म्यूजिक थेरेपी मदद कर सकती है। ऑटिज्म और अल्जाइमर के रोगियों के लिए म्यूजिक थेरेपी लेना फायदेमंद साबित हो सकता है। हृदय और मधुमेह रोगी भी इसका विकल्प चुन सकते हैं। आर्मी के दिग्गज, जिन्होंने मौत और युद्धों का अनुभव किया हो, वे खुद को शांत करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Aanand Dubey

superbharatnews@gmail.com, Mobile No. +91 7895558600, (7505953573)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *